डिजिटल इंडिया:सूचना प्रौद्योगिकी के वैश्विक दिग्गजों की आश्वस्ति अहम

 वैश्विक प्रौद्योगिकी दिग्गज,  भारतीय बाजारों में चाहते हैं अपनी पैठ !

      New Delhi:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा की उपलब्धि संयुक्त राष्ट मुख्यालय में modi on face bookआयोजित कार्यक्रमों में उनकी मौजूदगी और भागीदारी नहीं बल्कि देश के दूसरे छोर पर स्थित सैन होजे में उनकी मौजूदगी थी। अमेरिका के पश्चिमी तट पर स्थित इस शहर में उन्होंने सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र के वैश्विक दिग्गजों गूगल, ऐपल और माइक्रोसॉफ्ट से मुलाकात की और उनके साथ विचार साझा किए।  प्रधानमंत्री मोदी ने जो वक्तव्य दिया उससे आश्वस्ति मिलती है कि वह प्रौद्योगिकी के महत्त्व को समझते हैं जो कि न केवल देश के शहरों में विकास का अहम घटक है बल्कि ग्रामीण विकास भी इससे अछूता नहीं है। प्रौद्योगिकी क्षेत्र के दिग्गजों द्वारा की गई घोषणाएं भी उतनी ही आश्वस्ति कारक हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री की भावनाओं का समर्थन ही नहीं किया बल्कि यह भी बताया कि वे भारतीय बाजारों में अपनी मौजूदगी कैसे बढ़ाना चाहते हैं।

आम साक्षरता के रास्ते ही  डिजिटल साक्षरता का  पूरा होगा लक्ष्य  !

Indian Prime Minister Narendra Modi (L) and Facebook CEO Mark Zuckerberg have a conversation on stage during a town hall at Facebook's headquarters in Menlo Park, California September 27, 2015. REUTERS/Stephen Lam

भविष्य की रूपरेखा के बारे में मोदी ने कहा कि डिजिटल खाई को पाटना होगा और डिजिटल साक्षरता को उसी तरह बढ़ावा देना होगा जिस तरह आम साक्षरता को। डिजिटल युग में लोगों के जीवन में ऐसा बदलाव लाने की क्षमता है जो कुछ दशक पहले तक संभव नहीं था। जैसे-जैसे डिजिटल खाई पटेगी वैसे-वैसे प्रशासनिक बदलाव संभव होगा। सत्ता, शासितों के जीवन में इसकी मदद से ही बदलाव ला सकती है। मोदी की उत्सुकता यह है कि प्रशासन में इसकी मदद से पारदर्शिता,जवाबदेही और पहुंच सुनिश्चित होगी। उनकी इस भावना को मान्यता देते हुए माइक्रोसॉफ्ट के प्रमुख सत्य नाडेला का मानना है कि अब वक्त आ गया है कि पूरी दुनिया के लोगों को एक साथ सशक्त बनाया जाए। गूगल के प्रमुख सुंदर पिचई ने कहा कि प्रधानमंत्री के भीतर प्रौद्योगिकी की जो समझ है वह बदलाव का बहुत बड़ा कारक है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में भारत को एक अनूठी बढ़त यह हासिल है कि वह दुनिया में अपने स्टार्ट अप की वजह से अलग पहचान कायम कर रहा है।

डिजिटल अवसर का पूरा लाभ हासिल करने के लिए अभी  लंबा है सफर !

pm-meets-tech-giants_सिलिकन वैली में कार्यरत भारतीयों की मदद से इस क्षेत्र में बढ़त हासिल करना हमारा ध्येय होना चाहिए और मोदी की बातें सुनकर लगा कि वह इस बात का पूरा लाभ उठाना चाहते हैं। लेकिन उन्होंने कुछ ऐसी बातों का भी जिक्र किया जिनको सुनकर लगता है कि भारत को इस डिजिटल अवसर का पूरा लाभ हासिल करने के लिए लंबा सफर तय करना है। उन्होंने राष्टरीय ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क का जिक्र किया जिसकी मदद से ब्रॉडबैंड को देश के 6 लाख गांवों तक पहुंचाया जाएगा। लेकिन इस अहम परियोजना पर काफी समय से काम हो रहा है।digital village जाहिर है ब्रॉडबैंड को दूरदराज गांवों में रहने वाले गरीबों तक पहुंचाए बिना तो इसका पूरा लाभ मिलना मुश्किल है। यहां तक कि मोबाइल फोन अथवा स्मार्ट फोन (जिसकी मदद से गांव के लोग वायरलेस ब्रॉडबैंड चला सकें) के लिए भी टावर और बिजली की आवश्यकता होगी। सेवा प्रदाता को इनको दूरदराज गांवों में लगाना होगा जहां से राजस्व कम आएगा। मोदी ने एक और अहम बात कही। भारत डाटा सुरक्षा और निजता को सर्वाधिक महत्त्व दे रहा है। लेकिन अरसा पहले जिस निजता कानून का वादा किया गया था वह कहां है? हमें मसौदा एन्क्रिप्शन नीति जैसे विफलताओं से भी बचना होगा। डिजिटल अवसर हमें सक्षम बनाएगा लेकिन इसकी सफलता ढेर सारे गैर डिजिटल कारकों पर निर्भर है।

Vaidambh Media

Previous Post
Next Post

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

hogan outlet online scarpe hogan outlet nike tn pas cher tn pas cher nike tn 2017 nike tn pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher