तो क्या राजनीतिक थे; कुमारी सैलजा के आंसू ?

राजनीति का चरित्र !

New Delhi: राज्य हित के लिये राजनीति होती है या सबको भ्रमित कर अपना उललू सीधा करने के लिये, यह आज के सदन में चर्चा को देखते हुए कहना मुश्किल है। SCfb सत्ता व विपक्ष दोनो के पास देश के जरुरी मुद्दे छोड़ बाकी सब है बहश के लिये!आज पूरे दिन 2013 की घटना पर बर्तमान केन्द्र सरकार सफाई दे रही है। क्यों ? पता नहीं। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता कुमारी सैलजा के उस बयान पर बुधवार को राज्यसभा में जमकर हंगामा हुआ जिसमें उन्होंने कहा था कि गुजरात के द्वारका मंदिर में कुछ साल पहले उनकी जाति पूछी गई थी। पिछले हफ्ते संसद में ये बताते हुए वो रो पडऩे वाली कुमारी सैलजा के आरोपों पर सवालिया निशान लगाते हुए राज्यसभा में बुधवार को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंदिर की विजिटर्स बुक में सैलजा का लिखा एक बयान सुना कर बताया कि इस बयान में वो मंदिर की तारीफ कर रही हैं।

मंदिर का कहना है कि वहां किसी से जाति नहीं पूछी जाती
इससे सवाल उठ रहा है कि क्या सैलजा के आंसू झूठे थे। इस मुद्दे पर राज्यसभा में हुए हंगामे के बीच कांग्रेस ने आरोप लगाया कि जेटली ने एक दलित महिला का अपमान किया है। arun-jetaliआपको बता दें कुमारी सैलजा दो दिन पहले में मंदिर में अपने साथ हुए गलत व्यवहार की जानकारी संसद में देते हुए रोने लगीं थी। कुमारी सैलजा के आरोपों के बाद मंदिर का कहना है कि वहां किसी से जाति नहीं पूछू जाती है। कोई भी आकर मंदिर में भगवान के दर्शन कर सकता है। कुमारी सैलजा 2013 में द्वारका मंदिर में दर्शन करने गईं थी। अपने आरोपों के साथ कुमारी सैलजा का कहना है कि जिस मंदिर की बात वो कर रहीं वो मुख्य मंदिर नहीं है। उन्होंने अपने बयान में ‘बेत द्वारका ‘ मंदिर का जिक्र किया था।
इस पूरी घटना पर बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि अगर कुमारी सैलजा के साथ 2013 में ऐसा हुआ था तो उन्होंने उस समय इस बात की जानकारी क्यों नहीं दी। इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कांग्रेस मेनुफेक्चर्ड समस्याएं और भेदभाव पैदा कर रही है।
ये है पूरा मामला
– कांग्रेस सांसद सैलजा ने दो दिन पहले राज्यसभा में संविधान पर चर्चा के दौरान कहा था कि गुजरात के एक मंदिर में जाने पर उनकी जात पूछी गई थी। उसके बाद मंदिर में एंट्री मिली थी।kumari-selja
– सैलजा ने राज्यसभा में कहा था- इस संविधान के कारण, हमारे फाउंडिंग फादर्स के कारण हम यहां पहुंचे। जब यूपीए की सरकार थी, मैं मंत्री थी, तब मैं गुजरात गई थी।
– दलित हूं, पर हिंदू हूं। मंदिर जाने का हमारा भी मन करता है। मैं भी गई। द्वारका गई तो मेरी भी इच्छा हुई। सबको पता था कि मैं मंत्री हूं। देशभर में बहुत मंदिरों में गई हूं।
– लेकिन गुजरात मॉडल का एक यह भी हिस्सा देखिए। पूरे देश में कहीं भी नहीं है। लेकिन द्वारका के मंदिर में मुझसे पूछा गया कि आपकी जात क्या है? (इसी दौरान बोलते-बोलते वे भावुक हो गईं थीं।)
– बयान पर राज्यसभा में हंगामा होने के बाद सैलजा ने कहा था- उस दिन के बाद आज फिर मुझे अपमान महसूस हुआ। मेरी बात पर सवाल खड़ा किया जा रहा है।

भगवान कृष्ण की कृपा से बहुत अच्छे दर्शन हुए
SONIA  sailza– जेटली ने द्वारकाधीश मंदिर की विजिटर बुक का पन्ना दिखाकर आरोप लगाया कि सैलजा ने झूठ बोला है।
– उन्होंने सैलजा का कमेंट पढ़कर सुनाया। इसमें उन्होंने लिखा था- “भगवान कृष्ण की कृपा से बहुत अच्छे दर्शन हुए।
– मंदिर का रखरखाव बहुत अच्छा है। ईश्वर की कृपा से, उनके आशीवाज़्द से, यहां आकर बहुत भाग्यशाली महसूस कर रही हूं।”
– इस पेज पर सैलजा के साइन के साथ 22 फरवरी 2013 की डेट भी है। और मंदिर की सील भी लगी है।
– जेटली के इस बयान के बाद सदन में हंगामा शुरू हो गया है। इस वजह से राज्यसभा की कारज़्वाई को स्थगित करना पड़ा।
हाउस को मिसलीड करने की कोशिश !
manmohan soniya sailza– जेटली के दावे पर बुधवार को सैलजा ने कहा कि उन्होंने कभी नहीं कहा कि द्वारका के मुख्य मंदिर में उनसे जाति पूछी गई थी।
– द्वारका से सटे एक आईलैंड के मंदिर में मेरे साथ ये वाकया हुआ था।
– उन्होंने कहा- बीजेपी के सदस्य इस मुद्दे पर हाउस को मिसलीड करने कोशिश कर रहे हैं।
मंदिर में कभी जात नहीं पूछी जाती
– द्वारकाधीश मंदिर के तीर्थ पुरोहित, परेश पाढीया ने कहा कि यहां कभी किसी की जात नहीं पूछी जाती।
– पुजारी ने दावा किया कि कोई भी आकर यहां देख सकता है कि सभी लोग किस तरह यहां भगवान के दर्शन करते हैं।
जाति विवाद पर जमकर हुआ हंगामा

New Delhi: Congress MP Kumari Selja speaks in Rajya Sabha during the winter session of Parliament in New Delhi on Wednesday. PTI Photo / TV GRAB (PTI12_2_2015_000025B)

New Delhi: Congress MP Kumari Selja speaks in Rajya Sabha

– मंदिर में जाति विवाद को लेकर राज्यसभा तीन बार स्थगित हुई।
– तीन बार स्थगन के बाद दोपहर दो बजे सदन की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस सदस्य सदन के बीचों-बीच आ गए और माफी मांगो, माफी मांगो और नरेन्द्र मोदी हाय- हाय के नारे लगाने लगे।
– इस बीच लेफ्ट नेता सीतराम येचुरी ने कहा कि सदन का महत्वपूर्ण वक्त बरबाद किया जा रहा है। सैलजा को लेकर बयान देने वाले मंत्री को माफी मांगनी चाहिए ताकि सदन की कार्यवाही चल सके।
– इसी दौरान संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि संविधान पर चर्चा के दौरान उस दिन सैलजा ने पांच बार द्वारकाधीश मंदिर का नाम लिया था। यदि मंत्री के बयान को सदन की कार्यवाही से हटाया जाता है, तो सैलजा के बयान से भी द्वारका शब्द को हटाया जाना चाहिए।

Vaidambh Media

Previous Post
Next Post

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

hogan outlet online scarpe hogan outlet nike tn pas cher tn pas cher nike tn 2017 nike tn pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher