प्रदेश सरकार का फैसला ; अब पक्के तौर पर मिलेगी छोटे शहरो को भी हवाई यात्रा की सुविधा !

पर्यटन क्षेत्र  लखनऊ-वाराणसी-आगरा -गोरखपुर-इलाहाबाद  से मिलेगी हवाई यात्रा की रेगुलर सुविधा!
  Lucknow :plane2 उत्तर प्रदेश के प्रमुख शहरों को जोडऩे वाली विमानन कंपनी को होने वाले घाटे की भरपाई राज्य सरकार करेगी। मंत्रिपरिषद की ओर से मंजूर किए गए प्रस्ताव के तहत कंपनी 18-20 सीटों वाले छोटे विमानों का संचालन करेगी। वायबिलिटी गैप फंडिंग (वीजीएफ) के तहत राज्य सरकार कंपनी को अधिकतम पांच करोड़ रुपये की भरपाई करेगी। यह हवाई सेवा शुरु होने के बाद पर्यटकों को उत्तर प्रदेश में एक शहर से दूसरे शहर की यात्रा करने की सुविधा मिलेगी। इस सेवा का लाभ उठाने के लिए सरकारी विभागों को भी प्रोत्साहित किया जाएगा। domestic-flights-thumb
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की अध्यक्षता में हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में वायु सेवा संचालन नीति के प्रभावी एवं व्यावहारिक क्रियान्वयन हेतु नीति में विभिन्न संशोधन प्रस्तावों को मंजूरी प्रदान की गई। इससे राज्य मे परिवहन सुविधा बेहतर होने के साथ-साथ पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। इन संशोधनों के बाद अब राज्य के भीतर वायु सेवा संचालन हेतु 18 से 20 सीटों वाले विमान का उपयोग किया जाएगा। निविदा प्रक्रिया के माध्यम से वायु सेवा प्रदाता का चयन किया जाएगा। चयनित कंपनी को वीजीएफ के तहत 300 घंटे की उड़ान पर अधिकतम पांच करोड़ रुपए मिलेंगे।
पहले वर्ष के कार्यफल पर बढ़ेगी अवधि !
 शुरुआत में यह एक वर्ष का अनुबंध होगा जिसे एक वर्ष की संतोषजनक सेवा के बाद दो साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। वायु सेवा के लिए प्रति सीट न्यूनतम किराये का निर्धारण महानिदेशक (पर्यटन) की अध्यक्षता में गठित समिति द्वारा किया जाएगा। वायु सेवा प्रदाता को पहले चरण में प्रतिदिन अनिवार्य रूप से लखनऊ-वाराणसी-आगरा-वाराणसी-लखनऊ, लखनऊ-इलाहाबाद-गोरखपुर- लखनऊ और लखनऊ-गोरखपुर-इलाहाबाद-लखनऊ के लिए वायु सेवा प्रदान करनी होगी। अभी इन शहरों के बीच कोई हवाई सेवा का संचालन नहीं है।
Amit K. Gambheer
Vaidambh  Media

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *