लम्बे संघर्ष के बाद अब मजदूरी की दूसरी क़िस्त 3 लाख 60 हज़ार का भुगतान

DSCF4809  भदोही  सुरियावा ब्लाक के महदेपुर गाँव के मनरेगा मजदूरों ने मनाया जश्न ए संघर्ष ! लम्बे संघर्ष के बाद अब मजदूरी की दूसरी क़िस्त 3 लाख 60 हज़ार का किया गया भुगतान ! इस अवसर पर महदेपुर में आयोजित जन संवाद में एकता परिषद , विडिओ वॉलेंटियर्स , जन सहयोग मंच , सोशल विज़न , मनरेगा मज़दूर एकता मंच सहित अनेक संगठनो  ने साझी घोषणा करते हुए कहा है की वंचितो के हक़ में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना का बेहतर एवं पारदर्शी क्रियान्वन हर हाल में होना चाहिए।  ! एकता परिषद, विडियो वालंटियर्स तथा जनसहयोग मंच के सहयोग से लड़ी गई  इस लड़ाई में मजदूरों और सामाजिक संगठनो ने एकता, एकजुटता और संघर्ष का एक बेमिशाल उदाहरण पेश किया है वही दूसरी तरफ इस मजदूरी के भुगतान हेतु जिम्मेदार अधिकारियो और कर्मचारियों की शर्मशार कर देने वाली घोर लापरवाही को भी उजागर किया है ! जन संवाद में विडियो वालंटियर्स के संस्थापक स्टॅलिन और जेसिका ने कहा की विडियो वालंटियर्स की स्थापना  वंचित समुदाय के आवाज़ को बुलन्द करने के लिये ही की गई है ! विडियो वालंटियर्स इस संघर्ष के सभी मजदूर साथियों और सहयोगी संगठनों के ज़ज्बे को नमन करता है और साथ ही साथ मजदूर साथियों और सहयोगी संगठनों से ये वादा भी करता है कि उनके उनके पीड़ा और संघर्ष की आवाज़ को अपने विडियो के माध्यम से शासन प्रशासन सहित पूरी दुनिया तक पहुचाते हुये उनको सामाजिक न्याय दिलाने का काम करता रहेगा

जन संवाद में बोलते हुए एकता परिषद के द्विजेन्द्र विश्वात्मा ने कहा की  जमीनी स्तर पर मनरेगा  कानून का अनुपालन सुनश्चित न हो पाने से योजना की मंशा पर पानी फिर रहा है।  प्रत्येक मज़दूर का अंतिम भुगतान होने तक जारी रहेगा संघर्ष !  महदेपुर के 160 मनरेगा मज़दूरों ने स्थानीय तालाब में यू तो मजदूरी का काम 45 से 60 दिन तक किया था ! मगर उनको अपनी मजदूरी पाने के लिये 275 दिन तक लगातार  लड़ाई लड़ना पड़ा जो की दुर्भाग्यपूर्ण हैं। भदोही जिले में मनरेगा को जन हितैषी बनाने के लिए सभी सामाजिक संगठनो को एकजुट होने की जरुरत है।

जन सहयोग मंच महदेपुर के मुखिया इशू लाल सरोज   ने पूरे मामले पर प्रकाश डालते हुये बताया कि सुरियावां ब्लॉक के महदेपुर ग्राम पंचायत में 160 मनरेगा मज़दूरों से 23/12/2013 से 21/02/2014 तक गाँव में बन रहे तालाब में मनरेगा अधिनियम के तहत तालाब की ख़ुदवाई का काम करवाया गया था ! कार्य की समाप्ति के 15 दिन के अन्दर भुगतान भी हो जाना चाहिए था परंतु बहुत अफसोश की बात है कार्य पूरा हो जाने के पश्चात इनकी मज़दूरी के भुगतान हेतु जिम्मेदार अधिकारियों के निरंकुशता, लापरवाहियों तथा संवेदनहीनता के चलते इन मज़दूरों की मज़दूरी का वित्तीय वर्ष 31 मार्च-2014 के समाप्ति तक भुगतान ना हो सका जिससे इन मजदूरों ने बेचैन होकर प्रधान से लेकर ब्लाक के अधिकारियों तक के चक्कर काटने शुरू किये !पूरा भुगतान ना होने पर आक्रोश व्यक्त करते हुये इस भुगतान के जिम्मेदार समस्त अधिकारियो को बकाया 2 लाख के तत्काल भुगतान चेतावनी देते हुये कहा कि इन मजदूरों के सब्र का ना ले इंतहान ! साथ ही कहा ये बहुत ही शर्मनाक घटना है ! कानूनन कार्य समाप्त होने के 15 दिनों के अंदर इस मज़दूरी का भुगतान हो जाना चाहिये था !

 

इन मज़दूरों की समस्याओं का पता चलते ही विडियो वाँलंटियर्स के सामुदायिक संवाददाता अनिल कुमार ने पूरे मामले का विडियो बनाया और उस विडियो के माध्यम से एकता परिषद, विडियो वाँलंटियर्स, जन सहयोग मंच ने महदेपुर के मजदूरों को एकजुट कर उनके बकाया मजदूरी के भुगतान हेतु ब्लाक से लेकर जिला स्तर तक संघर्ष का बिगुल फूका तब जाकर अगस्त-2014 में सवा दो लाख का भुगतान हुआ था ! बकाया मजदूरी के भुगतान हेतु अगस्त से ही संघर्ष को और तेज़ किया गया ! जिलाधिकारी कार्यालय तक 2-2 बार प्रदर्शन करते हुये ज्ञापन दिया गया और अंत में जिला प्रशासन के मुख्यालय को घेरने की योजना बनाई गई जिसके फलस्वरूप अब पुनः 3 लाख 60 हज़ार की बकाया मजदूरी का भुगतान किया गया !  सवाल ये भी खड़ा किया है की क्या अब मजदूर अब महज़ कुछ ही दिन मजदूरी का काम करने के बाद अपना सभी काम छोड़ कर सिर्फ मजदूरी पाने की लड़ाई ही लड़ते रहेगे तो आखिर वो अपना जीवन कैसे चलायेगे !

!

सोशल विज़न के संस्थापक एवं मीडिया कर्मी  संजय श्रीवास्तव एवं महेश जायसवाल  ने कहा कि आज का ये कार्यक्रम पत्रकारिता, सामुदायिक और सांगठनिक संघर्ष का अनोखा संगम है ! जहा एक तरफ अधिकारियों की लापरवाही और संवेदनहीनता  उजागर हो रही है वही दूसरी तरफ मजदूरों ने सामाजिक संगठनो के साथ एकजुट होकर शांति पूर्वक  संघर्ष की एक मिशाल कायम की है ! हम अपने सभी मीडिया के साथियों से ये अपील करते है की इस संघर्ष को अंतिम मुकाम तक पहुचाने में अपना अधिकतम योगदान दे !

विडियो वाँलंटियर्स के राज्य समन्वयक अंशुमान सिंह ने कहा की ये विजय मजदूरों और सामाजिक संगठनो के एकता और संघर्ष की विजय है ! ये बुराई पर अच्छाई की जीत है !

Previous Post
Next Post

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

hogan outlet online scarpe hogan outlet nike tn pas cher tn pas cher nike tn 2017 nike tn pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher