शंख वादन से बढ़ती है स्मरण शक्ति, नहीं होते रोग !

 शंख बजाइए- रोगों से छुटकारा पाइए !

 Haridwar:  अगर आपको खांसी, दमा, पीलिया, ब्लडप्रेशर या दिल से संबंधित मामूली से लेकर गंभीर बीमारी है तो इससे छुटकारा पाने का एक सरल-सा उपाय है- शंख बजाइए और रोगों से Lord-Hanuman-jiछुटकारा पाइए। शंखनाद से आपके आसपास की नकारात्मक ऊर्जा का नाश तथा सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। शंख से निकलने वाली ध्वनि जहाँ तक जाती है वहां तक बीमारियों के कीटाणुओं का नाश हो जाता है। शंखनाद से सकारात्मक ऊर्जा का सर्जन होता है जिससे आत्मबल में वृद्धि होती है। शंख में प्राकृतिक कैल्शियम, गंधक और फास्फोरस की भरपूर मात्रा होती है। प्रतिदिन शंख फूंकने वाले को गले और फेफड़ों के रोग नहीं होते। शंख से मुख के तमाम रोगों का नाश होता है। शंख बजाने से चेहरे, श्वसन तंत्र, श्रवण तंत्र तथा फेफड़ों का व्यायाम होता है। शंख वादन से स्मरण शक्ति बढ़ती है।

शंख मुख्यतः दो प्रकार के होते ह्रैं

dakshinavarti-shankh-250x250 vama शंख मुख्यतः दो प्रकार के होते ह्रैं : वामावर्ती और दक्षिणावर्ती। इन दोनों की पूजा का विशेष महत्व है। दैनिक पूजा-पाठ एवं कर्मकांड अनुष्ठानों के आरंभ में तथा अंत में वामावर्ती शंख का नाद किया जाता है। इसका मुख ऊपर से खुला होता है। इसका नाद प्रभु के आवाहन के लिए किया जाता है। इसकी ध्वनि से क्क शब्द निकलता है। यह ध्वनि जहां तक जाती है, वहां तक की नकारात्मक ऊर्जा नष्ट हो जाती है। वैज्ञानिक भी इस बात पर एकमत हैं कि शंख की ध्वनि से होने वाले वायु-वेग से वायुमंडल में फैले वे अति सूक्ष्म किटाणु नष्ट हो जाते हैं, जो मानव जीवन के लिए घातक होते हैं।

शंख वादन के अन्य लाभ भी हैं!

shankh_blownउक्त अवसरों के अतिरिक्त अन्य मांगलिक उत्सवों के अवसर पर भी शंख वादन किया जाता है। महाभारत के युद्ध के अवसर पर भगवान कृष्ण ने पांचजन्य निनाद किया था। कोई भी शुभ कार्य करते समय शंख ध्वनि से शुभता का अत्यधिक संचार होता है। शंख की आवाज को सुन कर लोगों को ईश्वर का स्मरण हो आता है। शंख वादन के अन्य लाभ भी हैं। इसे बजाने से सांस की बीमारियों से छुटकारा मिलता है। स्वास्थ्य की दृष्टि से शंख बजाना विशेष लाभदायक है। शंख बजाने से पूरक, कुंभक और प्राणायाम एक ही साथ हो जाते हैं। पूरक सांस लेने, कुंभक सांस रोकने और रेचक सांस छोड़ने की प्रक्रिया है। आज की सबसे घातक बीमारी हृदयाघात, उच्च रक्त चाप, सांस से संबंधित रोग, मंदाग्नि आदि शंख बजाने से ठीक हो जाते हैं। घर में शंख वादन से घर के बाहर की आसुरी शक्तियां भीतर नहीं आ सकतीं। यही नहीं, घर में शंख रखने और बजाने से वास्तु दोष दूर हो जाते हैं। दक्षिणावर्ती शंख सुख-समृद्धि का प्रतीक है। इसका मुख ऊपर से बंद होता है।

 वास्तु : घर में शंख हो तो रखें इन  8 बातों  ध्यान !

sankh in home“घर में शंख हो तो ध्यान रखें इन 8 बातों का” हिंदू धर्म में शंख को घर में रखना बहुत शुभ माना गया है। इससे सुख-समृद्धि बढ़ती है। घर में रखे शंख के विषय में ये 8 बातें ध्यान रखने पर उससे प्राप्त होने वाली शुभता में वृद्धि होती है। जानते हैं शंख के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें- 1- शंख को पानी में नहीं रखना चाहिए। 2- शंख को धरती पर भी नहीं रखना चाहिए। शंख हमेशा एक साफ कपड़ा बिछाकर रखना चाहिए। 3- शंख के अंदर जल भरकर नहीं रखना चाहिए। पूजन के समय शंख में जल भरकर रखा जा सकता है। आरती के बाद इस जल का छिड़काव करने से शारीरिक व मानसिक विकारों से मुक्ति मिलता है। साथ ही, जीवन में सौभाग्य का उदय होने लगता है। 4- शंख को पूजा के स्थान पर रखते समय खुला हुआ भाग ऊपर की ओर होना चाहिए। 5- शंख को भगवान विष्णु, लक्ष्मी या बालगोपाल की मूर्ति के दाहिनी ओर रखा जाना चाहिए। 6- शंख को माता लक्ष्मी का रूप माना गया है। इसलिए शंख को पूूजन स्थान में उसी आदर के साथ पूजा जाना चाहिए। जिस आदर के साथ भगवान का पूजन किया जाता है। 7- आसानी से धन की प्राप्ति के लिए शंख को 108 चावल के दानों के साथ लाल कपड़े में लपेटकर तिजोरी में स्थापित करें। 8- घर में शंख ध्वनि का गुंजन सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाने वाला माना गया है। पूजन के समय रोजाना घर में शंख बजाना चाहिए।

समुद्र मंथन से प्राप्त कुल 14 रत्नों में शंख एक महत्वपूर्ण रत्न है

samudra-manthanहिंदु धर्म के प्रत्येक कर्मकांड में शंख वादन का विशेष महत्व होता है, पर क्या आपको पता है कि शंख वादन की परंपरा कैसे शुरू हुई और कुल कितने प्रकार के शंख होते हैं. धार्मिक ग्रंथों के अनुसार शंख समुद्र मंथन के दौरान सर्वप्रथम पाया गया था. समुद्र मंथन से प्राप्त कुल 14 रत्नों में शंख एक महत्वपूर्ण रत्न है. शंख को सुख-समृद्धि और निरोगी काया का प्रतीक माना जाता है. इस मंगल चिह्न को घर की पूजा स्थल में रखते हैं.

                                                   शंख के अन्य प्रकार….

श्री गणेश शंख

ganesh sankhइस शंख की आकृति भगवान श्री गणेश की तरह ही होने के कारण इसे गणेश शंख कहा जाता है. यह शंख दरिद्रता नाशक और धन प्राप्ति में लाभदायक होता है.

अन्नपूर्णा शंख

अन्नपूर्णा शंख का उपयोग घर में सुख-शान्ति और समृद्धि के लिए किया जाता है. गृहस्थ अगर इस शंख का प्रतिदिन दर्शन करे तो परिवार में खुशहाली आती है.

कामधेनु शंख

annpurnaकामधेनु शंख के उपयोग से बुद्धि तीक्ष्ण होती है तथा तर्क शक्ति और प्रबल होती है.

मोती शंख

यह शंख घर में सुख और शांति को लाता है. मोती शंख हृदय रोग में भी बेहद लाभकारी होता है. इसकी स्थापना पूजा घर में सफेद कपड़े पर करें और प्रतिदिन पूजन करें, लाभ मिलेगा.

ऐरावत शंख

garuda-shankhऐरावत शंख से मनचाही साधना सिद्ध होती है, शरीर की बनावट तथा रूप-रंग निखरता है. प्रतिदिन इस शंख में जल डाल कर उसे ग्रहण करने से चेहरा कांतिमय होने लगता है. प्रतिदिन  शंख में 24 – 28 घण्टे तक जल रहे और फिर उस जल को ग्रहण करें.

 

विष्णु शंख

इसे घर में रखने भर से घर रोगमुक्त हो जाता है. इसका उपयोग प्रगति के लिए और असाध्य रोगों को ठीक करने के लिए किया जाता है.

पौण्ड्र शंख

इसका उपयोग मनोबल बढ़ाता है. विद्यार्थियों को इस शंख का प्रयोग अवश्य करना चाहिए. इसे विद्यार्थियों को अध्ययन कक्ष में पूर्व की ओर रखा जाना चाहिए.

मणि पुष्पक शंख

यह शंख यश कीर्ति, मान-सम्मान दिलाने वाला माना जाता है.  उच्च पद की प्राप्ति के लिए भी इसका पूजन किया जाता है.

देवदत्त शंख

shankh-1यह शंख दुर्भाग्य नाशक माना गया है. इसके उपयोग से मुकदमों में विजय मिलती है. इस शंख को शक्ति का प्रतीक माना गया है. न्यायिक क्षेत्र से जुड़े लोगों को इसकी पूजा अवश्य करनी चाहिए.

दक्षिणावर्ती शंख

इसे देव स्वरूप माना गया है. शंख के मध्य में वरुण, पृष्ठ में ब्रह्मा, अग्रभाग में गंगा का निवास है. दक्षिणावर्ती शंख को श्रेष्ठ शंख कहा जाता है. इसके पूजन से खुशहाली और सम्पत्ति बढ़ती है. जहां इस शंख का वादन एवं पूजन होता है वहां लक्ष्मी स्थायी रूप से निवास करती हैं.

             Vaidambh Media

D.J.S.

Previous Post
Next Post

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

hogan outlet online scarpe hogan outlet nike tn pas cher tn pas cher nike tn 2017 nike tn pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher