समझदारी : लोन लेकर हल करें अपनी आर्थिक समस्या !

इमरजेंसी में भी लोन लेते समय अपनाये समझदारी !

Loan Syndicationकिसी ने बहुत सही कहा है कि पैसा खुदा तो नहीं पर खुदा से कम भी नहीं। आदमी को पैसे की जरुरत पग -पग पर है। जन्म से मृत्यु तक आदमी को पैसा दौड़ाता रहता है। अपेक्षाओं की पूर्ति मन की चंचलता के बीच पैसा ही तो होता है। बैंक लोन हर किसी को पैसा उपलब्ध कराने का सबसे अच्छा माघ्यम है। आदमी अपनी जरुरत और हैसियत का आंकलन कर इस ब्यवस्था का लाभ ले सकता है। सभी के जीवन में अनिश्चितता का दौर आता-जाता रहता है और इसका डर हमेशा सताता रहता है। ऐसे में यह काफी मुश्किल होता है कि आपके पास जमा पैसा, ज्यों का त्यों बना रहे। आमतौर पर ऐसा देखा जाता है कि जरुरी मौके पर पैसे के लिए लोग पर्सनल लोन का सहारा लेते हैं। ऐसा इसलिए भी क्योंकि बाकी लोन की तुलना मे यह काफी आसानी से उपलब्ध हो जाता है। जैसे-जैसे ब्याज की दरें बढऩे का सिलसिला जारी है, ऐसे में कर्ज के चक्र में डूबने से पहले अन्य विकल्पों के बारे में भी सोचना चाहिए। हो सकता है बैंक आपके वित्तीय प्रोफाइल के बारे में जानना चाहते हैं कि आप इसके लिए योग्यता रखते भी हैं कि नहीं? ऐसे में लोन की आवश्यकता को पूरा करने के लिए यहां पर कई विकल्प सुझाए जा रहे हैं। इस लेख के माध्यम से हम उन्हीं विकल्पों के बारे में बताने की कोशिश कर रहे हैं जिसका इस्तेमाल कर आप ‘इमरजेंसी’ के वक्त पर्सनल लोन की उंची ब्याज दर के चक्कर में न पडक़र एक आसान रास्ता चुनें।

एफडी के बदले लोन

fixed-depositजब भी आपको इमरजेंसी में पैसे की जरुरत महसूस होती है तो ऐसी स्थिति में आप अपना फिक्स्ड डिपाजिट तोड़ सकते हैं जो कि आपने अपनी रिटायरमेंट के लिए जमा कर रखा है। फिक्स्ड डिपाजिट के बदले में लोन सबसे कम समय में उपलब्ध होने वाला लोन हो सकता है। आमतौर पर बैंक आपके फिक्स्ड डिपाजिट का 75 से 85 प्रतिशत तक का लोन दे सकता है। इसके बदले में आपको फिक्स्ड डिपाजिट पर मिलने वाली ब्याजदर से एक से दो फीसदी अधिक ब्याज देना पड़ सकता है। फिक्स्ड डिपाजिट के बदले मिलने वाले लोन का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसमें कागजातों की मांग सबसे कम की जाती है। इसके अलावा आपके फिक्स्ड डिपाजिट पर, जब तक आपका लोन चल रहा है, ब्याज भी मिलता रहेगा।

गोल्ड के बदले लोन

gold loneआर्थिक संकट के दौर से गुजरते वक्त कभी आपकी खूबसूरती बढ़ाने का काम करने वाला सोना, आपको संकट से भी आपको ऊबारने में मददगार साबित हो सकता है। मौजूदा समय में सोने में निवेश करने का सही वक्त नहीं माना जा रहा है लेकिन आपके द्वारा पहले से खरीदा गया सोना कीमती जरुर हो गया है। सोने के बदले मिलने वाला लोन इस बात पर निर्भर करता है कि आपका सोना कितना खरा है और इसका वजन कितना है। खास बात यह है कि इसके लिए किसी तरह की कोई प्रोसेसिंग फीस नहीं ली जाती और इसके बदले मिलने वाले लोन पर प्रीपेमेंट शुल्क भी नहीं देना पड़ता है। कई बैंक और वित्तीय संस्थान सोने के बदले लोन की सुविधा प्रदान करते हैं।

शेयर के बदले लोन

loanयह बात शायद कम लोगों को ही पता होगी कि आपके द्वारा किसी कंपनी के खरीदे गए शेयरों पर भी लोन मिलता है। कुछ खास बैंक, आपको किसी खास कंपनी के खरीदे गए शेयरों के बदले लोन की सुविधा उपलब्ध कराते हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि आप किसी तरह के शेयर के बदले सभी तरह के कर्ज के लिए योग्य हों। इसके लिए कुछ खास शेयरों को चिन्हित किया गया है जिसके बदले आपको लोन की सुविधा मिल सकेगी। हालांकि लोन की रकम इस बात पर निर्भर करती है कि आपके पास कितने मूल्य की सियोरिटी जमा है और कर्ज लेने वाले की भुगतान की क्षमता कितनी है।

इंश्योरेंस पालिसी के बदले लोन

Insurance-Policyजैसा कि सभी को पता है कि इंश्योरेंस बचत का एक बढिय़ा साधन माना जाता है। इसके अलावा यह क्षति होने की सूरत में वित्तीय सहायता भी उपलब्ध कराता है जिसके लिए यह पालिसी कराई गई है। जैसा की सभी को पता है कि सभी चीजों को इंश्योर नहीं किया जा सकता है, जिसके लिए आपका इंश्योरर आपको वित्तीय मदद उपलब्ध करा सके। लेकिन आप अपनी पालिसी को गिरवी रखकर, बैंक से लोन ले सकते हैं। इस तरह के लोन पर ब्याज दर 9 से लेकर 13 फीसदी तक होती है। लेकिन इसके लिए बैंक की शर्त होती है कि आप अपनी पालिसी का प्रीमियम लगातार तीन या इससे अधिक साल तक जमा कर चुके हों। ध्यान दें कि इसमें एक बार भी पालिसी की प्रीमियम देर से जमा नहीं होनी चाहिए।

पीपीएफ के बदले लोन

ppfपीपीएफ के बदले लिया जाने वाला लोन, पर्सनल लोन के विकल्प के रुप में सबसे बेहतर माना जाता है। आप तभी पीपीएफ लोन ले सकते हैं जब आप दो साल के भीतर लोन को चुका दें। अगर आपने पहला लोन समय पर चुका दिया है जिसमें किसी तरह का कोई बकाया नहीं हो तो आप दूसरा लोन भी ले सकते हैं। मगर यह खाता खोलने के 3 से 6 साल के भीतर होना चाहिए।

संपत्ति के बदले लोन

personal-loanतात्कालिक वित्तीय जरुरतों को पूरा करने के लिए आप अपनी अचल संपत्ति जैसे घर, जमीन का टुकड़ा या आफिस स्पेस, बेचने के लिए सोचने लगते हैं। लेकिन ऐसे समय में आपको सही खरीददार मिलना मुश्किल होता है। एक बार आपको खरीददार मिल जाता है और आप अपनी प्रापर्टी बेच देते हैं तो ऐसी स्थितियां उत्पन्न हो सकती हैं कि आप भविष्य में दोबारा जमीन खरीदने में सक्षम न हों। ऐसे में इन अचल संपत्ति के बदले लोन एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। अगर सभी चीजें सही रहती हैं तो 7 से 10 दिन के भीतर बैंकर आपको लोन उपलब्ध करा देगा। वित्तीय क्षेत्र के जानकारों की राय में आमतौर पर ऐसा देखा गया है कि प्रापर्टी के बाजार मूल्य का 50 से 60 फीसदी तक का लोन आपको मिल सकता है और इस पर ब्याजदर 12 से 16 फीसदी तक हो सकती है। लोन देते समय ऐसा संभव है कि बैंक आपकी प्रापर्टी का मूल्यांकन कम करे। ऐसे में इस बात को याद रखें कि इसके लिए आप किसी तीसरी पार्टी से भी संपत्ति का मूल्यांकन जरुर करवाएं। खास बात यह कि प्रापर्टी के एवज में लोन तभी लें जब आपको बड़ी रकम की आवश्यकता महसूस हो।

Vaidambh Media

 

Previous Post
Next Post

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

hogan outlet online scarpe hogan outlet nike tn pas cher tn pas cher nike tn 2017 nike tn pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher