सांपो को बचाने का अनोखा जुनून

hakkul ke saanp अगर किसी व्यक्ति को राह चलते किंग कोबरा या वायपर जैसे सांप सामने पड जाये तो उसका डर के मारे बोलती बन्द हो जाती है। कारण है इनका अत्यन्त जहरीला होना। किंग कोबरा और वायपर जैसे सांपो का जहर ही इनके विलुप्त होने का कारण भी बनता जा रहा है क्योंकि कुछ लोग इनको अवैध तरीके से तस्करी के द्वारा व्यापार करते है, जिससे उनके जहर से नशीली दवाइयों को तैयार किया जाता है। आजकल रेव पार्टियों में भी सांपो के जहर को नशे के लिए उपयोग किया जा रहा है।
इन्ही विलुप्त होते सांपो का जीवन दाता उभरे 55 वर्षीय हक्कुल ने जहरीले सांपो के तस्करों से इन सांपो को बचाने का बीड़ा उठा रखा है। हक्कुल बस्ती जिले के दुबौलिया ब्लाक के गांव पिपरौला का रहने वाला है उसने बचपन में अपने मामा शौकत से सांपो को पकडने की कला सीखी है। इस दौरान उसने देखा कि अक्सर किंग कोबरा प्रजाति के सांप घरों, खेत, खलिहानों में डस लेते है। इस काम से इनका जहर मनुष्य के शरीर में जाते ही 10 से 15 मिनट के अन्दर जान लेने के लिए काफी होता है। पूर्वी उत्तर प्रदेश में किंग कोबरा प्रजाति के सांपो को कुछ सपेरों द्वारा तस्करों के हाथों में बेचते हुए देखकर इन्होंने निश्चित किया कि वह अब इन विलुप्त होते सांपो को बचायेगें। धीरे-धीरे उन्होंने सांपो को इकट्ठा करना शुरू किया। इसके लिए उन्होंने लकडी का बाक्स और कुंए को सांपो का पनाहगाह बना रखा है। इस समय इनके पास 200 से अधिक किंग कोबरा, गेहुअन, करैत, गण्डैत, वायपर, कालिया, व भोला जैसे अत्यन्त जहरीले सांप है। इन सांपो के बारे में कुछ तस्करांे ने इनके सम्पर्क कर खरीदने की कोशिश की लेकिन हक्कुल ने इन लोगो को पुलिस के हवाले करने का डर दिखाकर खदेड दिया।
तस्करी रोकने में हक्कुल का प्रयास रहा है सफलः- पूर्वी उत्तर प्रदेश के बस्ती, सन्तकबीरनगर, सिद्धार्थनगर, गोरखपुर सहित आस-पास के जिलों में जहरीलें सांपो का ठिकाना अक्सर घर और खेत खलिहान होता है। यहां के कुछ सपेरे इन सापो को पकडने का कारोबार करते है फिर ये तस्करो के हाथों इन सापों को बेच देते है तस्करों द्वारा इन सांपो को नेपाल, चीन, बांग्लादेश के रास्ते में विदेशों में 5 से लेकर 25 हजार में बेच दिया जाता है। इन सांपो के जहर से विदेशों में नशीली चीजे तैयार की जाती है।
हक्कुल न इन्ही तस्करों के हाथों से सापंो को बचाने की कोशिश की है व अपने साथी सपेरों द्वारा पकडे गये सांपो को तस्करों के हाथों में जाने से रोकने के लिए सांपो को खरीद लेता है फिर इन सांपो को अलग-अलग वैराइटियो के साथ लकडी के हवादार बाक्स या कुए में सुरक्षित रखता है। हक्कुल इनके भोजन के लिए दिन भर खेतो में चूहे पकडने का भी काम करता है।
सांपो को बचाने का कर चुके है कई बार प्रयासः- पिछले वर्ष बस्ती जिले के हर्रैया तहसील में सांपो को छोडे जाने को लेकर चर्चा में आये हक्कुल ने सांपो की सुरक्षा व उनके लिए सुरक्षित जोन बनाये जाने को लेकर तहसील प्रशासन से पट्टे पर जमीन की मांग की थी। जिसके लिए तहसील कर्मचारियों ने हक्कुल से भारी भरकम घूस की मांग की। इस पर हक्कुल ने अपनी सारी जमा पूंजी लगभग 200 किंग कोबरा सांपो को तहसील परिसर में छोड दिया था। इस प्रकरण से एक हफ्ते से तहसील का काम प्रभावित हुआ। जिसके लिए हक्कुल पर मुकदमा भी दर्ज हुआ।
हक्कुल सांपो को गलत हाथो में जाने से रोकने के लिए कई प्रयास कर चुका है। उसने सांपो की सुरक्षा को लेकर तत्कालीन राष्ट्रपति श्रीमती प्रतिभा देवी सिंह पाटिल को मिलने के लिए पत्र लिखा। जिसमें राष्ट्रपति कार्यालय से हक्कुल से मिलने के लिए प्रतिभा देवी सिंह पाटिल ने हक्कुल को समय दिया लेकिन पत्र अंगे्रजी में होने के कारण हक्कुल उसे पढ नही पाया और राष्ट्रपति से मिलने और अपनी बात कहने का मौका गंवा दिया। इसके बाद भी हक्कुल ने हार नही मानी और वनविभाग के आला अधिकारियो ंसे कई मिलकर सांपो को सुरक्षित स्थानों पर छोडने का प्रार्थना पत्र दिया लेकिन वनविभाग के कर्मचारी सांपो को लेकर गम्भीर नही थे। इसके बाद हक्कुल ने जिलाधिकारी बस्ती को पत्र लिखकर सांपो की सुरक्षा की गुहार की जिस पर जिलाधिकारी ने कार्यवाही करते हुए लखनऊ के वनाधिकारियों को पत्र लिखा। हाल ही में डी0एम0 के पत्र पर कार्यवाही करते हुए वन विभाग ने हक्कुल के अत्यधिक जहरीले सांपो को ले जाकर लखनऊ चिडियाघर में छोडा है।
विषैले सांपो को लेकर छात्रों को प्रशिक्षित करने की मांगः- हक्कुल कहता है कि अक्सर करैत, वाइपर, व किंग कोबरा, प्रजाति के सांप घरों में पाये जाते है। जिसके बारे में लोगो को जानकारी न होने से सांपो द्वारा काटे जाने के बाद अक्सर व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है। हक्कुल नाममात्र का पढा लिखा होने के बावजूद सांपो के बारे में अच्छी जानकारी रखता है वह इसी जानकारी को विद्यालयों में छात्रों के बीच बांटना चाहता है। वह कहता है कि सांपो के काटे जाने पर उनके सुरक्षा व त्वरित इलाज के बारे में छात्रों को जानना जरूरी है। इसके लिए भी हक्कुल सरकार से अनुमति लेने के लिए पत्र लिख चुका है।
सांपो को लेकर अंधविश्वास से बचने के लिए करता है जागरूकः- हक्कुल कहते है कि अक्सर जहरीले सांपो के काटने के 5 से 30 मिनट के भीतर व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है लेकिन पूर्वी उत्तर प्रदेश में सांपो के काटे जाने पर लोग झाडफूंक के चक्कर में पडकर सांप काटे गये व्यक्ति की जान गवां बैठते है जबकि सांप काटे गये व्यक्ति को वह तुरन्त नजदीकी अस्पताल ले जाने की सलाह देते है इसके पहले प्राथमिक उपचार के तौर पर सांप काटे गये व्यक्ति सर्पदंश वाले स्थान पर नये ब्लेड से चीरा लगाने व काटे गये स्थान के ऊपर कसकर बांधने की सलाह देते है।
हक्कुल कहते है कि तंत्र मंत्र के चलते अभी तक उन्होने सैकडों लोगो को जान गवाते देखा है इसलिए लोगो को तंत्र मंत्र के चक्कर में न पडकर फौरी तौर पर इलाज करवाना चाहिए। सांपो को बीन बजाकर पकडने के सवाल पर हक्कुल ने कहा कि सांप पर बीन की धुन का कोई असर नही होता बल्कि सांप के सामने बीन को हिलाने से सांप भी अपना सिर हिलाता है। अगर हम कोई लकडी भी सांप के सामने हिलाये तो भी सांप अपना सिर हिलायेगा। इसलिए कुछ सपेरे लोगो को मूर्ख बनाकर पैसे एंेठते है।
सांपो के ऊपर हिंसा का करते है विरोधः- हक्कुल कहते है कि अक्सर सपेरे सांपो के जहर को निकालकर उन्हें महंगे दामों पर बेच देते है। इसके बाद सांपो द्वारा खेल दिखाकर सपेरे सांपो को कमाई का जरिया बना लेते है। जबकि हक्कुल द्वारा पकडे गये सांपों का विष नही निकाला जाता है बल्कि उन्हें उचित वातावरण मं सुरक्षित रखा जाता है। सांपो के इसी सुरक्षा के चलते एक बार जहरीले सांप द्वारा डसे जाने के कारण हक्कुल को अपनी एक अंगुली भी गवानी पडी।
हक्कुल अपने इस विधा को अपने तीन साल के पोते को भी सिखा रहा है जिससे हक्कुल के मरने के बाद उसका पोता सांपेा की सुरक्षा की जिम्मेदारी उठाये। हमारे समाज में शायद ही हक्कुल जैसे लेाग होगे जो सांपो की जहरीली दुनिया को सुरक्षित करने के लिए अपनी जान की बाजी लगाकर उनका पालन पोषण करता है। हक्कुल के इस प्रयास को देखते हुए सरकार को भी चाहिए कि वह किंग कोबरा को विलुप्त होने से बचाये।

वृहस्पति कुमार पाण्डेय

मो0- 09454309514

Previous Post
Next Post

hogan outlet online scarpe hogan outlet nike tn pas cher tn pas cher nike tn 2017 nike tn pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher