हम पाकिस्तान नहीं , भारत हैं !

केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह ने आज कहा कि मुंबई हमले जैसी आतंकी कार्रवाइयों का बदला लेने के लिए भारतीय सेना चुनौतीपूर्ण अभियानों को अंजाम देने में सक्षम है, लेकिन कुछ विचार उसे ऐसा करने से राकते हैं। दिल्ली के पूर्व पुलिस कमिश्नर नीरज कुमार ने भी वीके सिंह का समर्थन करते हुए कहा कि सीबीआई में उनके रहने के दौरान एजेंसी ने पाकिस्तान में एक सज्जन को पकड़ने की योजना तैयार की थीए लेकिन आखिरी दिन राजनीतिक आकाओं ने इसे विफल कर दिया।

army-1-1-350_042212062019

वीके सिंह ने एक किताब के विमोचन के मौके पर कहा, श्भारतीय सेना बहुत सक्षम है। लक्ष्य दिए जाने पर वह उससे बेहतर ढंग से अंजाम दे सकती है जैसे अमेरिकियों ने ;ओसामा बिन लादेन वाले अभियानद्ध किया था। मेरा मानना है कि एक देश के रूप में हमने अपनी सहिष्णुता की सीमाओं को बहुत अधिक लचीलापन दिया है। कहीं न कहीं मुझे लगता है कि कई ऐसे कारक हैंए जिन्हें 99 फीसदी लोग नहीं समझ पाते कि ऐसा क्यों हैंघ्श् केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस्राइल जैसे देश ही नतीजों की परवाह नहीं करते हुए कुछ चीजें कर सकते हैं। पूर्व सेना प्रमुख ने कहाए श्भारत उस स्थिति में नहीं है। हमें कई चीजों का ध्यान रखना पड़ता है। खासकर अर्थव्यवस्था पर प्रभाव का।

ये दोनों एस हुसैन जैदी की पुस्तक श्मुंबई एवेंजर्सश् के विमोचन के मौके पर बोल रहे थे। नीरज कुमर ने भारत को सॉफ्ट स्टेट करार देते हुए कहा कि जब बदला लेने की बारी आती है तब भी हम सॉफ्ट ही रहते हैं। उन्होंने कहाए श्जब मैं नौ सालों के लिए सीबीआई में थाए उस दौरान एक बार हमने पाकिस्तानी शख्स को दबोचने की सारी तैयारी कर ली थी। लेकिनए अंतिम समय में राजनीतिक नेतृत्व ने कहा कि हम पाकिस्तान नहींए भारत हैं।श्

neeraj_kumar-_sl_24-12-2012

नीरज कुमार ने कहा कि एजेंसी ने इसके लिए श्बाहरी तत्वोंश् को काम पर लगाया था और काफी निवेश भी कर चुकी थी, लेकिन सारी तैयारी बेकार चली गई। राजनीतिक इच्छाशक्ति के महत्व पर जोर देते हुए केंद्रीय मंत्री सिंह ने कहा कि संसद पर हमले के बाद भारत पाकिस्तान पर हमला कर सकता था लेकिन राजनीतिक नेतृत्व ने देरी कर दी।

उन्होंने कहा, “श्भारत ने कहा कि संसद पर हमला मंजूर नहीं है। भारत ने अपनी सेना भी तैनात कर दी और इसके बाद श्बिग ब्रदरश् ने मॉनीटरिंग शुरू कर दी। शायद हमें सीधे युद्ध छेड़ देना चाहिए था। जो लोग युद्ध नहीं चाहते थे उनके श्संदेशोंश् ने प्रक्रिया को धीमा कर दिया और फिर वह क्षण भी आया जब हमें तत्कालीन पाकिस्तानी पीएम मुशर्रफ के बोलने तक इंतजार करने के लिए कहा गया। इसके बाद 12 जनवरी को उन्होंने बयान दिया कि वह अपनी बातों का पालन करेंगे। तब तक काफी देर हो चुकी थी।श्

जनरल सिंह ने कहा , श्हो सकता है कि आपके पास इच्छाशक्ति भी होए लेकिन जब आप दूसरी चीजों को तौलने लगते हैं तो इसमें दूरदर्शिता नहीं दिखाई देती है।श् 26ध्11 के हमले के बारे में उन्होंने संकेत दिया कि इसकी वजह इंटेलिजेंस की विफलता थी।

Previous Post
Next Post

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

hogan outlet online scarpe hogan outlet nike tn pas cher tn pas cher nike tn 2017 nike tn pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher air max pas cher scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet scarpe hogan outlet chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher chaussures louboutin pas cher