43वां मुख्य न्यायाधीश होंगे जस्टिस तीरथ सिंह ठाकुर !

13 माह का होगा कार्यकाल !

New Delhi: जस्टिस तीरथ सिंह ठाकुर देश के नए मुख्य न्यायाधीश होंगे। suprimcourtवह मौजूदा मुख्य न्यायाधीश जस्टिस एचएल दत्तू से 2 दिसंबर को देश की न्यायपालिका की कमान संभालेंगे। जस्टिर दत्तू ने सरकार से उनके नाम की सिफारिश मंगलवार को की। सरकार यह सिफारिश राष्ट्रपति को भेजेगी जिनकी मंजूरी के बाद जस्टिस ठाकुर को देश को देश का 43वां मुख्य न्यायाधीश नियुक्त कर दिया जाएगा। सीजेआई के रूप में उनका 13 माह का कार्यकाल होगा। वह 4 जनवरी 2017 को रिटायर होंगे।
 इनकी अदालत में थे एनआर एच एम व सहारा श्री को जेल जैसे केस!

जस्टिस ठाकुर मृदु स्वभाव के हैं लेकिन कानून का वह सख्ती से पालन करवाने के लिए जाने जाते हैं। वह भ्रष्टाचार के सख्त खिलाफ है। आईपीएल में सट्टेबाजी पर उन्होंने सख्त फैसला दिया था जिसमें बीसीसीआई के अध्यक्ष एन श्रीनिवासन को पद छोड़ना पड़ा था। जस्टिस ठाकुर के पास इस वक्त महत्वूपर्ण मुकदमे लंबित हैं जिनमें सरदारों पर चुटकुले बंद करने की याचिका, सेना में कर्नल रैंक पर प्रमोशन, पश्चिम बंगाल का सारदा चिंट फंड घोटाला, यूपी का एन आरएचएम घोटाला और जेल में बंद सहारा प्रमुख सुब्रत राय के मामले शामिल हैं।

हाईकोर्ट के पूर्व जज जस्टिस डीडी ठाकुर के पुत्र हैं भावी मुख्य न्यायाधीश !
जम्मू में 4 जनवरी 1952 के जन्मे जस्टिस ठाकुर जम्मू कश्मीर हाईकोर्ट के पूर्व जज जस्टिस डीडी ठाकुर के पुत्र हैं और उन्होंने 1972 में अपने पिता के चेंबर से अपनी वकालत शुरू की थी। justice-ts-thakur_यहां उन्होंनें सिविल क्रिमिनल, टैक्स और सर्विस मामलों में प्रेक्टिस की। 1990 में उन्हें वरिष्ठ अधिवक्ता नामित किया गया और फरवरी 1994 में उन्हें जम्मू कश्मीर हाईकोर्ट का अस्थाई जज नियुक्त किया गया।
इसके बाद उनका कर्नाटक हाईकोर्ट में तबादला हो गया जहां वह स्थाई जज बनें और 2004 में स्थानांतरित होकर दिल्ली हाईकोर्ट आ गए। यहां अप्रैल 2008 में वह कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश बने। इसके बाद उन्हें अगस्त 2008 में पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया। 17 नवंबर 2009 को वह प्रोन्नत होकर जज के रूप में सुप्रीम कोर्ट आए।

Vaidambh Media

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *