कनाडा के प्रधानमंत्री ने भारतीय धरोहर पैरॅट लेडी मोदी को लौटाया

  पैरॅट लेडी:900 साल पुराने  खजुराहो मंदिर की मूर्ति का हिस्सा
New Delhi/ आेटावा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कनाडा के प्रधानमंत्री स्टीफन हार्पर से मुलाकात के दौरान हार्पर ने उन्हें खजुराहो मंदिर की मूर्ति के 900 साल पुराने एक हिस्से को भेंट किया जो किसी वजह से कनाडा पहुंच गया था।  वर्ष 1970 के यूनेस्को घोषणापत्र के अनुपालन में, हार्पर ने ‘‘पैरॅट लेडी’’ के तौर पर चर्चित यह शिल्प मोदी को भेंट किया।
 हार्पर से बातचीत करने के बाद मोदी ने कनाडा की संसद के पुस्तकालय का दौरा किया जहां हार्पर ने उन्हें यह शिल्प सौंपा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता यूनेस्को घोषणापत्रने ट्वीट में बताया, ‘‘कनाडा ने भारतीय धरोहर का हिस्सा ‘पैरॅट लेडी’ लौटा दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बलुआ पत्थर से बने खजुराहो के इस शिल्प को ग्रहण किया।’’  यूनेस्को के संरक्षित स्मारकों में शामिल खजुराहो के इस शिल्प में एक नर्तकी को दर्शाया गया है जिसकी पीठ पर एक तोता बैठा हुआ है।
 विरासत का यह अमूल्य हिस्सा कनाडा में वर्ष 2011 में नजर आया था। इसे अपने अधिकार में रखने वाले व्यक्ति के पास उचित दस्तावेज नहीं मिलने पर इसे जब्त कर लिया गया था। इसके बाद कनाडाई अधिकारियों ने अपनेे भारतीय समकक्षों से संपर्क कर इसे वापस लौटाने के बारे में विचारविमर्श शुरू कर दिया था।