डकैतों ने उठायी भाजपा विधायक की भैंस, पुलिस के फूले हाथ पांव

तकनिक के इस युग में उत्तर प्रदेश की पुलिस व सरकार के लिये वर्षाे पुराने पशुधन का महत्व अचानक बढ़ गया जब विधायक व मंत्री के खूंटे से भैंस खुलने लगी। सरकार को पशु-डकैत चुनौती दे रहे हैं। पश्चिम उत्तर प्रदेश में शहर में दूध बेचने वाले कई कारोबारी आज कल सदन में हैं। हो क्यां ना उनको जनता ने ससम्मान सदन में भेजा है। वोट दे कर.  अब ऐसे में उनकी भैंसों की जिम्मेदारी किस पर है जाहिर है पुलिस की ! लेकिन नेताजी लोग भूल जाते हैं कि ये वही पुलिस है जो उन्ही के इसारे पर न जाने कितने घरों में;  डकैती… चोरी… बलात्कार… जिंदा जलाने …पर मूक स्थिर खड़ी रहतीहै। आदत बिगाड़ने के बाद अपनी ही गाय, पिछवाड़े में सींग घुसा देती है.. नेताजी लोगों…!    BUFFALO

भाजपा नेता की भैंस  ले गये डकैत , पूरी         क्षमता के साथ पुलिस छान रही खाक !

Lucknow: यूपी पुलिस को एक बार फिर एक माननीय की भैंसों को तलाशने में जुटना पड़ा है. इस बार मामला है आंवला से बीजेपी के विधायक धर्मपाल सिंह का. उनके फार्महाउस से सोमवार देर रात बदमाश नौ भैंसें अपहरण करके ले गए. फॉर्म हाउस पर काम कर रहे नौकर को बंधक बनाकर बदमाश नौ दो ग्यारह हो गए. बरेली की पुलिस बदमाशो की तलाश में रात से ही जुट गई. आस-पास के तीन थानों की फोर्स भी विधायक की भैंसों को खोजने में जुटी हुई है. खुद एसपी ग्रामीण ने मौके पर जाकर पूरा मामले को समझा.सोमवार रात आंवला के भाजपा विधायक धर्मपाल सिंह के रामगंगा किनारे कृषि फार्म पर दर्जनभर बदमाशों ने धावा बोल दिया. नौकर को बंधक बना बदमाश उनकी नौ भैंसों का अपहरण करके ले गए. विधायक के फार्म हाउस पर डकैती की सूचना से लोग भी हैरत और दहशत में हैं. विधायक के भाई ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ सिरौली थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है. DHARAMPAL SINGH bjp mla

आवला विधानसभा क्षेत्र से विधायक धर्मपाल सिंह का सिरौली थाना क्षेत्र के रामगंगा इलाके में कृषि फार्म है. यहां खेतीबाड़ी के अलावा डेयरी का काम भी होता है. इसके लिए फार्म पर दस भैंस थीं. इनकी देखरेख नौकर जागन करता है. जागन के अनुसार सोमवार रात लगभग 11 बजे दर्जनभर सशस्त्र बदमाश फार्म पर आ गए और उसे एक कमरे में बाधकर डाल दिया. इसके बाद दो बदमाश पहरेदारी करते रहे. अन्य ने भैंसों को खोल लिया और रामगंगा की ओर ले गए. किसी तरह जागन ने खुद को बंधनमुक्त किया और पड़ोस के गांव झाउनगला उर्फ अमरीका गौटिया जा पहुंचा. यहां लोगों को घटना की जानकारी दी तो गाव से लगभग पचास लोग फार्म पर पहुंचे. लोगों ने जंगल में तलाश की, लेकिन बदमाश एवं भैंसों का कोई सुराग नहीं लगा.

भैसों के पदचिह्न पर चलती रही पुलिस!

upp

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ब्रजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया की बदमाशो की तलाश में तीन टीम लगाई गई है .घटना की जानकारी जब विधायक धर्मपाल सिंह को हुई तो उन्होंने रात में ही पुलिस अधीक्षक ग्रामीण को घटना की सूचना दी. इस पर अधिकारियों ने रात को ही पूरा जंगल घेरने के आदेश दे दिए. सिरौली पुलिस के अलावा अलीगंज और मीरगंज की पुलिस रामगंगा की कटरी में कूद गई. रामगंगा के दोनों ओर पुलिस ने दिन निकलने तक कांबिंग की मगर कोई सुराग नहीं लग सका. भैसों के पदचिह्न जहा तक मिले, पुलिस वहा तक तलाशती रही. रामगंगा पर पहुंच कर निशान गायब हो गए.
बहरहाल एक तरफ पुलिस चोरो के गैंग का खुलासा कर रही है तो दूसरी तरफ बदमाश पुलिस को खुली चुनौती दे रहे है. इससे पहले रामपुर में आजम खान की भैंसे चोरी हुई थी तब भी पुलिस की काफी किरकिरी हुई थी. अब देखना है की पुलिस कब तक विधायक जी की भैंसे बरामद करती है

                                                             VaidambhMedia