“मैं उन्हें छूट देना चाहती हूं कि वे मेरा शरीर छूकर देखें”

मेरे बच्चे मुझे निर्वस्त्र देखें-

 ritaNew Delhi: मैं अपने चार बेटों के साथ रहती हूं. वे अभी बहुत छोटे हैं. उनकी उम्र का अंदाज आप इसी से लगा सकते हैं कि मुझे अभी यह चिंता करने की जरूरत नहीं कि उन्होंने कोई वयस्क मैगजीन किसी मैट्रेस के नीचे छुपाई होगी या छुप-छुपकर पोर्न साइट देखते होंगे और फिर इंटरनेट सर्च हिस्ट्री मिटा देते होंगे. मुझे खुशी है कि फिलहाल मेरे बेटे अभी उन जिज्ञासाओं के चक्कर में नहीं पड़े हैं. लेकिन मुझे पूरा एहसास है कि बहुत जल्दी ये सब होने लगेगा. शायद मेरी कल्पना से भी ज्यादा जल्दी. (मेरा मतलब कि मैंने तो 25 की उम्र तक सेक्स के बारे में सोचा भी नहीं था.)

अपने चार बेटों के साथ रीटा टेम्पलटन.

New Picture

इसलिए मैं चाहती हूं कि मेरे बच्चे मुझे निर्वस्त्र देखें-
1.  क्योंकि यदि मैं ऐसा नहीं करूंगी तो पता नहीं वे किस औरत को पहले नग्न देखेंगे. शायद किसी मैगजीन या मूवी में, जिसका शरीर हो सकता है कि परफेक्ट न हो. तो उन्हें क्या अपेक्षा होगी? वे महिला की कौन सी छवि के साथ रहेंगे?
2.  मैं चाहती हूं कि मेरे बेटे पूछें कि मेरे पेट पर निशान कैसे पड़े हैं. और मैं उन्हें गर्व के साथ बता सकूं कि एक बच्चे को गर्भ में रखना कितना कठिन काम होता है. वे हो सकता है कि मेरे ढीले पेट को दबाएं, लेकिन मैं बताना चाहती हूं कि मैं उन्हें पालते हुए इस शरीर के साथ खुश हूं.
3. मैं नहीं चाहती कि वे किसी महिला के तने हुए स्तन को ही आदर्श मान लें, जो कि शायद किसी मैगजीन में डिजिटली बनाए गए हों. उन्हें पता होना चाहिए कि आगे चलकर इनका आकार बदलता है खासतौर पर बच्चों के जन्म लेने के बाद.
4. मुझे विश्वास है कि मेरी इस कोशिश से बच्चों में खुद समझ आ जाएगी और वे ही मुझे अपना शरीर ढंकने के लिए कहेंगे. एक समय आएगा, जब वे मेरे कमरे में नॉक करके आएंगे. तब तक मैं उन्हें छूट देना चाहती हूं कि वे मेरा शरीर छूकर देखें.
इन अनुभवों के साथ जब वे शादी करेंगे. कुछ उम्र के बाद जब उनकी पत्निेयां कहेंगी कि ‘काश हमारे पैर थोड़े पतले होते’ तो मेरे बेटे जवाब देंगे कि ‘वे जैसे भी हैं परफेक्ट हैं’.
(अमेरिका के आयोवा की रहने वाली रीटा टेम्पलटन के ये विचार हफिंगटन पोस्ट वेबसाइट पर प्रकाशित हुए हैं.)