राजे व ललित मोदी में आपराधिक सांठगांठ , स्तीफा देें सीएम: रमेश

New Delhi: ललित मोदी प्रकरण में राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे के इस्तीफे की मांग कर रही कांग्रेस ने भाजपा का स्पष्टीकरण खारिज कर दिया। कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर नए दस्तावेज जारी कर दावा किया, राजे परिवार व ललित मोदी में आपराधिक सांठगांठ है।

100 करोड़ रूपए का निवेश  कर महल को लग्जरी होटल में बदला

jayram ramesh     रमेश ने ऎलान किया, कांग्रेस अपने खुलासे तब तक बंद नहीं करेगी, जब तक भाजपा द्वारा ललित मोदी प्रकरण में राजे को बर्खास्त कर मामले को खत्म नहीं कर दिया जाता। उन्होंने कुछ और कागजात जारी किए, इसमें वर्ष 1949 का दस्तावेज भी है। इस दस्तावेज में दर्शाया गया है कि धौलपुर पैलेस राजस्थान सरकार की संपत्ति है। रमेश ने लगातार दूसरे दिन राजे पर ललित मोदी के साथ निजी कंपनी के जरिये धौलपुर महल पर जबरन अवैध कब्जे का आरोप लगाया। कहा, राजे-ललित ने मिलकर सरकारी संपत्ति धौलपुर महल को लग्जरी होटल में बदला। दोनों की कंपनी इसे चला रही है। महल को लग्जरी होटल में बदलने के लिए 100 करोड़ रूपए का निवेश किया गया। यह पैसा मॉरीशस से आया। रमेश बोले, हम विदेश मंत्री सुषमा के मामले को भी नहीं भूले हैं, जिन्होंने ललित मोदी को यात्रा दस्तावेज में मदद की थी। उनके बारे में अभी और खुलासे होने हैं। राजे के अलग रह रहे पति हेमंत सिंह और पुत्र दुष्यंत के बीच सिर्फ चल संपत्ति का समझौता था। हमारे द्वारा दस्तावेज पेश करने के बावजूद भाजपा कमजोर तर्को के साथ दुष्यंत के साथ संपत्ति के स्वामित्व को उचित बताने की कोशिश कर रही है।
                    रमेश के दावे और आरोप

Jairam Ramesh launches Toilet Campaign
Jairam Ramesh launches Toilet Campaign

दुष्यंत सिंह बनाम हेमंत सिंह मामले में भरतपुर के अतिरिक्त जिला न्यायाधीश ने 2007 में समझौता कराया था। महल और उसके आसपास की भूमि राजस्थान सरकार की है। सरकारी संपत्ति के बावजूद दुष्यंत ने 500 मीटर भूमि के टुकड़े के लिए एनएचएआई से करीब दो करोड़ रूपए मुआवजा लिया, जो धोखाधड़ी व भ्रष्टाचार का मामला है। मुआवजा दुष्यंत और भूमि अधिग्रहण अधिकारी के बीच सांठगांठ से लिया गया।
वसुंधरा सरकार ने तंबाकू उत्पादों पर टैक्स में 30 प्रतिशत कटौती कर ललित मोदी की सिगरेट कंपनी गॉडफ्रे फिलिप्स को सीधे मदद पहुंचाई। इससे सरकारी खजाने को 360 करोड़ की चपत लगेगी। सुष्मा, स्मृति, महाराष्ट्र की मंत्री पंकजा मुंडे के इस्तीफे की भी मांग दोहराई।
             कांग्रेस को सियासी फायदा

Flag_of_the_Indian_National_Congress.कांग्रेस की रणनीति राजे के इस्तीफे पर केंद्रित हो गई है। कांग्रेस राजस्थान को लेकर दो फायदे देख रही है। एक-राजे के हटने पर भाजपा में टूट होगी। फिर से चुनाव के हालात बनेंगे, जो कांग्रेस के अनुकूल रहेंगे। दूसरा-टूट नहीं हुई तो भाजपा में अंदरखाने चल रही खींचतान खुलकर सामने आ जाएगी। असर मध्यप्रदेश की राजनीति पर भी पड़ेगा, जहां व्यापमं घोटाले पर शिवराज सरकार विवाद में है। कांग्रेस ने मानसून सत्र से बिहार चुनाव तक चुप नहीं बैठना तय किया।
भ्रम फैला रहे हैं जयराम: भाजपा

bjpRajnathजयपुर: प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अशोक परनामी व चिकित्सा मंत्री राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि अधूरी जानकारी के आधार पर कांग्रेस धौलपुर सिटी पैलेस के मालिकाना हक को लेकर भ्रम फैला रही है। राठौड़ ने चुनौती दी कि वे जयराम रमेश से किसी भी मंच पर बहस को तैयार हैं, शर्त है कि गलत सिद्ध होने पर रमेश राजनीति से संन्यास ले अन्यथा वे राजनीति से संन्यास लेने को तैयार हैं। केबिनेट की ब्रीफिंग के बाद पत्रकारों ने रमेश के बयान पर सरकार का पक्ष पूछा तो राठौड़ ने परनामी को बुलवा लिया। परनामी ने कहा, रमेश ने 17 मई 2007 का दस्तावेज दिखाया, जिसमें कहा कि केवल चल संपत्ति ही हेमंत सिंह के हिस्से में आई हैं। इसी दस्तावेज के बिंदू संख्या 9 बी में जिक्र है कि चल के साथ अचल संपत्ति भी हेमंत सिंह के हिस्से में आई है। रमेश 1949 के दस्तावेज पेश कर मीडिया को गुमराह कर रहे हैं कि धौलपुर पैलेस सरकार के पास चला गया। हकीकत में 1956 में समझौते के तहत पैलेस की एवज में केसरबाग सरकार को दिया था। ऎसे में 1949 का दस्तावेज अर्थहीन है।

                                Vaidambh Media