Month: July 2015

तुम्हे कुछ करना चाहिए,ये तुम्हारे भविष्य की दुनिया का सवाल है!

 चिर प्रकाश की अमर निद्रा मेें सो गये कलाम ! एपीजे अब्दुल कलाम वैज्ञानिक थे,मगर व्यवहार में शिक्षक का आचरण और भिक्षुक की सादगी थी। उन्होंने राष्ट्रपति पद
Read More

अगर आप सोना खरीदना चाहते हैं तो थोड़ा इंतजार और कर सकते हैं !

New Delhi: आम जन की पहुंच से दूर हुआ सोना एक बार फिर घरों की अलमारियों तक का सफर तय करने की तैयारी में है। देश के प्रमुख
Read More

बिन ब्याही माँ का बच्चा होने में शर्म कैसी ?

 बिन ब्याही माँ बनने के फैसले पर गर्व ! Pune:  वह एक मज़बूत औरत हैं लेकिन जब उन्होंने शादी किए बग़ैर मां बनने का फ़ैसला किया तो यह उनके
Read More

इनकम टैक्स भरते समय जानने योग्य प्रमुख बातें !

नाबालिग बच्चों के जमा खाते पर मिलने वाला ब्याज, माता-पिता की आय का हिस्सा अपने बच्चे के सुनहरे भविष्य के लिए आप बैंक में उसके नाम पर एक आवर्ती
Read More

झुनझुना: देश में शौंचालय निर्माण ,रख-रखाव किसके जिम्में..?

सामाजिक कार्यों का वास्तविक जिम्मेदार कैान ? कारपोरेट या सरकार !  देश में वर्तमान सरकार अपने सभी किये गये कार्यों को अभूतपूर्व बताकर अपनी पीठ थपथपा रही है।
Read More

ये कैसा सुधार : 1% से भी कम को इस व्यवस्था में मिल रहा न्याय !

 अंग्रेजों द्वारा खड़ी की गई भारतीय न्याय व्यवस्था आज भी मौजूद !    New Delhi: भारतीय न्याय व्यवस्था की एक बहुत बड़ी विडंबना है कि वह जिसरूप में
Read More

अथ् राजनीति शास्त्र: हवाई चप्पल और बंगाली सूती साड़ी vs रूपा गांगुली

         डर्टी पालिटिक्स  New Delhi: दो दिन पहले मेरी एक दोस्त ने कोलकाता से फोन किया और पूछा कि क्या मैंने पार्थ दासगुप्ता के बारे
Read More

शिक्षा का स्कूल में त्याग कर देने वालेे बाबा रामदेव को पीएचडी!

Chandigarh: स्कूली शिक्षा को बीच में ही छोड़ चुके योग गुरू बाबा रामदेव को जल्द ही हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय द्वारा मानद डाक्टरेट की उपाधि (पीएचडी) से सम्मानित किया
Read More

अथ् विश्वविद्यालय पतनोध्याय: प्रश्नों के क्रीड़ा-स्थल पर चुप्पी

उच्च शिक्षण, शोध , नैतिक व्यवहार की जिम्मेदारी से कौन रोकता है?  विश्वविद्यालय ज्ञान-सृजन के लिए होते हैं, पर यह संभव तभी है जब वे प्रश्नों के क्रीड़ा-स्थल
Read More

पुरुष संरक्षण से मुक्त हुई माॅ : आगे पथ होगाआसान..!

“वो दरवाजा शाम तक बंद रहा और लोगों की चौपाल उस दरवाजे के बाहर चटपटी चर्चाओं के साथ सजी रही। मोहल्ले के एक भी आदमी या औरत ने
Read More

स्वतंत्र भारत के अंधेरे दिन : आपातकाल यानी चापलूसकाल !

ब्लैकमेल ,धमकी ,कानून के साथ खिलवाड़ आपातकाल की रहे  पहॅचान                                                                                                     चुप रहीं दुर्गा !  New Delhi (dhananjay): आपातकाल की भयावहता
Read More

सिंचाई सुविधा के लिए 30,000 करोड़ रुपये किसानों को कर्ज देगा नाबार्ड

 5 साल में  किसानों को  50,000 करोड़ रुपये  कर्ज  के अतिरिक्त है ये घेषणा ! New Delhi:सार्वजनिक क्षेत्र के राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) ने अगले
Read More

“मैं उन्हें छूट देना चाहती हूं कि वे मेरा शरीर छूकर देखें”

मेरे बच्चे मुझे निर्वस्त्र देखें-  New Delhi: मैं अपने चार बेटों के साथ रहती हूं. वे अभी बहुत छोटे हैं. उनकी उम्र का अंदाज आप इसी से लगा
Read More