Month: January 2017

ग्राम-गणतंत्रों को विनष्ट करने वाली सत्ता देश का भला नहीं कर सकती !

 New Delhi : महात्मां कहलाना और महात्मा हो जाना , दोनों मे वही अंतर है जो आकाश व पाताल के बीच है। आज महात्मां कहलाने वाले  महंथ व
Read More

भाजपा का टिकट vs कार्यकर्ता … दिल कुछ कह रहा है, दल कुछ !

क्या करें क्या ना करें ये कैसी मुश्किल हाय:  भाजपा कार्यकर्ता   अब कहां जांय ! Gorakhpur : टिकट बॅटवारे को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं में निराशा है । पूर्वांचल
Read More

चुनाव व लग्न मंण्डप के संयुक्त आगमन से, फूल बाजार में आई बहार !

नेताओं को फूल माला और पुष्प गुच्छ से सम्मानित करने की परंपरा पुरानी ! Varnashi  : वाराणसी समेत पूर्वांचल में शादी का लग्न और विधानसभा चुनाव की बयार
Read More

कितना ? कब तक ? किसका बचेगा पानी !

खाद्यान्न पेयजल की उपलब्धता पर प्रतिकूल प्रभाव! Gorakhpur:  हमारे देश की जनसंख्या आने वाले दिनों में सर्वाधिक प्रभावति हो सकती है जिस विकराल समस्या से वह है पानी
Read More

उत्तरोत्तर विकास में फलती – फूलती सामाजिक बुराई ‘दहेज’ !

  विकास की आंधी में दहेज की विकरालता ! Gorakhpur :  देश में  तमाम सामाजिक बुराइयों का साथ हम विकास की झकाझूम आंधी में भी नहीं छोड़ रहे हैं,
Read More