Author: Dhananjay

बेवफा होती मोदी सरकार की बौद्धिक संपदा ?

 देश के संचालकों की बौद्धिक दिब्यांगता ! New Delhi :  चार वर्षों में देश की वर्तमान सरकार दम्भ तो भरती रही पर  ‘अहंब्रम्हस्मि‘  का अभिनय करनें में भी
Read More

दहेज दानव से मुक्ति के लिये स्वस्थ परिवार का मुखिया बनें, कानून के पास नहीं है ईलाज !

बहू -पत्नी के प्रति हमारी सामाजिक जिम्मेदारी क्या है ? New Delhi :  हमारे देश में सदियों पुरानी परम्परा दहेज, प्रताड़ना का विशाल बटबृक्ष बन चुकी है । तमाम
Read More

दुर्लभ वनस्पतियाॅ : शुभ का शुभारम्भ करने वाली हल्दी अपने साथियों के साथ संकट में !

खत्म होते रीति-रिवाजों के साथ दुर्लभ वनस्पतियों पर विलुप्त होने का संकट !  New Delhi : हमारे देश मेें आमजन प्रकृति के बहुत करीब रहा है। यूं कहें
Read More

नोटबंदी : सरकार के युवावस्था में अब दिखनें लगीं झुर्रियाॅ !

 नहीं प्राप्त हो सके नोटबंदी के लिए तय लक्ष्य !  New Delhi : अति उत्साह में उठाया गया कदम हर बार सही पड़े यह कदापि सम्भव नहीं। इसीलिये
Read More

प्रधानमंत्री मोदी कर रहे एक उद्देश्यपूर्ण और ऊर्जावान सरकार का नेतृत्व !

  अटल जी की गठबंधन की तुलना में पीछे है मोदी की पूर्ण बहुमतवाली सरकार ! New Delhi :   15 अगस्त , भारत मे स्वतंत्रता दिवस के दिन
Read More

प्रेम व आध्यात्म का पवित्र संयोंग है साॅवन मास !

साॅवन   सनातन धर्म के विक्रमीसम्वत कलेंण्डर में पाॅचवाॅ महिना ‘साॅवन‘ के नाम से जाना जाता है। इसे संस्कृत में श्रवण माॅस कहते हैं। श्रवण का अर्थ सुनना
Read More

कानूनी प्राविधानों की सजग रिर्पोटिंग से मीडिया ला सकती है बड़ा बदलाव !

बच्चों के अधिकार संरक्षण पर कानूनी परिचर्चा Gorakhpur : रेलवे स्टेशन गोरखपुंर के प्लेटफार्म पर परिजनों से विछुड़े -भटके हुए बेसहारा बच्चों के साथ काम करने वाली संस्था
Read More

मासूमो की मौत के बाद कुछ सबक लेगा मेडिकल कालेज ?

गोरखपुर :  बीते पखवारे में मासुमों की मौत, माताओं के करुण क्रंदन तथा सिस्टम की जानलेवा,घोर लापरवाही से देश-विदेश में गोरखपुर शहर की क्रूर पहचान बनीं। यह पहचान
Read More

पढ़ाई , प्रशिक्षण, रोजगार बन रहा मानव तस्करी का हथियार !

भारत में नेपाली युवक-युवतियों से ठगी ? भारत-नेपाल सम्बंध की बात जब भी होती है, दोनो देशों के बीच सामाजिक-सांस्कृतिक सम्बंधों का अटूट बंधन मिलता है। दोनों देश
Read More

मानव तस्कर बाजार : कब तक ऑख मूंदकर काम चलायेंगे जिम्मेदार !

कुप्रथाओं का रंगरोगन :  भिन्न-भिन्न तरीके से स्त्री – बच्चों का शोषण ! Gorakhpur :   मानव क्या से क्या बन रहा है !  संसार के समस्त प्राणी
Read More